इन बड़ी कंपनियों के नाम कैसे और क्यों रखे गये।

3
118

बड़ी कंपनी (MNC Company) की बात करें तो हर किसी की जुबान पर Google, Apple, Amazon, Nike जैसी Companies के नाम आते हैं। तो आज हम इस post में बताएंगे कि इन कंपनी के नाम कैसे सोचे गए।

गूगल (Google):Google eJankari.com
Google का नाम सुनते ही तुम्हारे दिमाग में Computer Screen पर इंटरनेट कनेक्शन की तस्वीर आती होगी। ये एक search engine है जिस पर आप dunia की किसी भी चीज को सर्च कर सकते हो पर क्या आप google word का मतलब जानते हो ? Google के founder लेरी पेज (Larry page) और सग्रे ब्रिन (Sergey Brin) ने इस सर्च इंजन का  नाम गूगल ही क्यों रखा ? गूगल, गणितीय शब्द के गूगोल से बनाया हुआ शब्द है। गूगोल एक ऐसी संख्या है, जिसमे एक के पीछे 100 जीरो लगे हैं। इस सर्च इंजन की स्थापना इसी उदेश्य से की गई थी कि जब भी कोई गूगल पर कुछ सर्च करे तो गूगल उस सुचना (एक के बाद 100 जीरो तक की संख्या) को इतने web पेजो में सर्च कर सकता है। और आज google अपना काम बखूबी कर रहा है।

एप्पल (Apple):Apple_logo_eJankari.com
Apple भले ही सेब का english नाम हो, लेकिन आज एप्पल एक brand के नाम से जाना जाता है। जब किसी ब्रांड के रूप में apple की बात होती है तो सब समझ लेते हैं कि किसी महँगे Mobile या Computer की बात चल रही है। फ़ोन, आईपैड, लेपटॉप कंप्यूटर जैसे तकनीकी उत्पादो में एप्पल एक प्रसिद्ध ब्रांड है। इसके founder स्टीव जॉब्स (Steve Jobs) जब अपनी कंपनी का नाम सोच रहे थे तब उनके दिमाग में था कि company का title सरल और मजेदार होना चाहिए ताकि ये लोगो में आसानी से बजूद बना ले। फिर जब वह एक दिन सेब की फार्म से घर लौट रहे थे तभी उनके दिमाग में idea आया कि कंपनी का नाम Apple रखा जाये।

अमेज़न (Amazon):Amazon.com-Logo ejankari.com
Amazon.Com को कौन नही जनता है आज कल की Online Shopping site  में अमेज़न का top में नाम है। वैसे तो अमेज़न दक्षिण अमेरिका में बहने वाली एक बड़ी नदी का नाम है। लेकिन आज internet से shopping की दुनिया में अमेज़न डॉट कॉम का भी बड़ा नाम है। इसके founder जेफ बेजोस (Jeff Bezos) अपनी ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी के लिए नाम सोच रहे थे, तो वह अपनी company का नाम अंग्रेजी के ‘A’ अक्षर से रखना चाहते थे। तब डिक्शनरी काफी नाम देखने के बाद उन्हें Amazon नाम पसंद आया। अमेज़न दुनिया की सबसे बड़ी नदी है, जोकि सबसे ज्यादा पानी बहा कर लाती है। जेफ अपनी कंपनी को भी कुछ ऐसा ही बनाना चाहते हैं, जो dunia मे सबसे ज्यादा सामान डिलीवर करानें वाली कंपनी हो।

नाइकी (Nike):nike-swoosh-logo-png-the-top-10-most-popular-shoe-brands-everyone-is-wearing-top-10-rate-pict
अलग -अलग खेलो से जुड़े खिलाडी अपनी sports kit से जुड़े सामान में चुनिंदा खेल brand का सामान use करते हैं। इसमें Nike का भी एक नाम है। नाइकी के संस्थापक बिल बोबरमैन (Bill Bowerman) और फिल नाइट (Phil Knight) ने 1964 में ब्लू रिबन (Blue Ribbon) नाम से अपनी कंपनी start की। किसी भी खेल में first आने पर ब्लू रिबन से नवाजा जाता है। इसलिए उन्होंने अपनी कंपनी को Blue ribbon नाम दिया। वही 14 साल बाद उन्होंने ब्लू रिबन कंपनी का नाम change करके NIKE रख दिया। नाइकी यूनानी देवी का नाम है, जो यूनान में विजय की देवी हैं। इसीलिए बिल बोबरमैन ने इसका नाम Nike रखा।

कैनन (Canon):Canon_logo
जब भी कैनन का नाम सुनते हैं तो आपके मन में कैमरे की छवि आ जाती होगी। 1934 में बनी इस कंपनी का cemara क्वानॉन नाम से बनाया गया था। क्वानॉन एक बौद्ध भिक्षु का जापानी नाम है, जो दया का प्रतीत हैं। 1935 में company ने क्वानॉन से मिलता-जुलता नाम कैनन रखा, ताकि दुनिया भर के लोग कैनन के कैमरों को बौद्ध भिक्षु के नाम की तरह ही प्रेम से अपनाएं।

यह पोस्ट में हमने इंटरनेट की सहायता ली है अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी या इसमें कोई गलतियां नज़र आ रही हैं तो कमेंट जरूर करें।

अगर आप कोई post या article शेयर करना चाहते है तो हमें mail कर सकते हैं edit@eJankari.com पर।

 

3 टिप्पणी

Leave a Reply